Enquiry Now
Ganpati Jyotish | हस्तरेखा
16533
post-template-default,single,single-post,postid-16533,single-format-standard,theme-bridge,qode-quick-links-1.0,woocommerce-no-js,ajax_fade,page_not_loaded,,paspartu_enabled,hide_top_bar_on_mobile_header,columns-3,qode-child-theme-ver-1.0.0,qode-theme-ver-11.1,qode-theme-bridge,wpb-js-composer js-comp-ver-5.1.1,vc_responsive
 

हस्तरेखा

हस्तरेखा

जानिए वर्ष 2020 में कौन से ग्रहों से मिलेगा शुभ-अशुभ फल?

अंग्रेजी कैलेण्डर के अनुसार साल 2019 का समापन और साल 2020 का आरंभ हो चुका है। साल 2019 में कुछ ग्रहों ने अपना खुब कमाल दिखाया, जिसका प्रभाव मानव तन-मन पर भी पड़ा। ग्रहों के एक ही राशि में युति-प्रतियुति के कारण शुभ अशुभ फल को तुरंत समझा भी जा सकता है। ज्योतिष के अनुसार जब दो ग्रह एक ही राशि में स्थित हों तो इस अवस्था को युति औऱ जब दो ग्रह एक-दूसरे के आमने-सामने होने वाली स्थिति को प्रतियुति कहते हैं। शुभ ग्रहों की युति शुभफल एवं अशुभ ग्रहों की युति अशुभफल देती है। सूर्य ग्रह आत्मा, पिता, मान सम्मान, आदर, यश, सरकार इत्यादि का कारक ग्रह माना जाता है। 2020 में अधिकतर लोगों को यह ग्रह लाभ देगा। मंगल बुद्धि, बल, साहस, धैर्य, तेज, क्रोध इत्यादि का कारक ग्रह माना जाता है। लेकिन 2020 में यह ग्रह अपने जातकों को परेशान नहीं करेगा। बुध ग्रह बुद्धि, व्यवसाय, व्यापार वाणी में चातुर्यता, हास्य, बुआ इत्यादि का कारक माना जाता है। इस साल 2020 में कई लोगों को व्यापार में लाभ, कविता, लेख, नई खोज आदि में अच्छा लाभ मिलेगा। गुरु विद्या, ज्ञान, न्याय, अहिंसा सत्य, धन इत्यादि का कारक माना जाता है। 2020 में न्याय, सत्य और ज्ञान की कसौटी पर खरे लोगों को हर तरफ से सफलता मिलेगी। शुक्र ग्रह स्त्री, स्त्री सुख ( पुरुष की कुंडली में ) भौतिक सुख, धन, सुंदरता ऐश्वर्य इत्यादि का कारक ग्रह माना जाता है। इस साल 2020 में इस की शुभ युति का लाभ अप्रैल 2020 के बाद मिलेगा। शनि ग्रह कर्म, न्याय, अवरोध, विषाद, कमी, निराशा कंजूस, समाज सुधारक, नेता कोयला इत्यादि का कारक माना जाता है। 2020 में इस ग्रह की युति-प्रतियुति से बहुत कुछ हलचल दिखाई दे सकती है। राहु बड़ी-बड़ी योजना बनाना, बुद्धिविभ्रम, विचारों का समूह, दादा, केमिकल, जहर असंतोष इत्यादि का कारक ग्रह माना जाता है। 2020 में प्रयास करें की राहु काल में शुभफल की युति के लिए राहु मंत्र का जप करें। केतु मोक्ष, रुकावट, झंडा, मंदिर, नाना, खुजली, कुष्ट, गुप्त रोग इत्यादि का कारक माना जाता है। 2020 में इस ग्रह के अशुभ प्रभावों से बचने के लिए हनुमान चालीसा का पाठ रोज करें।

For Free Prediction Call Now: 0124-6674671 or whatsapp: 9

Free Prediction Call Now: 0129-4013846. or whatsapp: 08178089828
कोई समस्या है या कोई सवाल है तो दिए हुए लिंक पे क्लिक कर आप अपनी समस्या और अपने सवाल भेज सकते है:- http://tiny.cc/GJS
Google: http://bit.ly/2Ss31Mf
Twitter: http://bit.ly/378OeKM
Linkdin: http://bit.ly/2sik1dn
Facebook: http://bit.ly/2MuftHH
Instagram: http://bit.ly/2EXd4kt

Spread the love
No Comments

Post A Comment