Enquiry Now
Ganpati Jyotish | कुंडली मिलान
16816
post-template-default,single,single-post,postid-16816,single-format-standard,theme-bridge,qode-quick-links-1.0,woocommerce-no-js,ajax_fade,page_not_loaded,,paspartu_enabled,hide_top_bar_on_mobile_header,columns-3,qode-child-theme-ver-1.0.0,qode-theme-ver-11.1,qode-theme-bridge,wpb-js-composer js-comp-ver-5.1.1,vc_responsive
 

कुंडली मिलान

कुंडली मिलान

शादी से पहले कुंडली मिलान क्यों जरुरी है?

आज के आधुनिक युग में भी लव मैरिज की अपेक्षा अरेन्ज मैरिज अधिक होती है। अरेन्ज मैरिज में एक परिवार के लोग दूसरे परिवार के खानदान, खानपान, कल्चर, स्टेटस और कुण्डली मिलान के आधार पर वैवाहिक सम्बन्ध बनाते है। इसमें कुण्डली मिलान सबसे महत्वपूर्ण माना जाता है, क्योंकि ज्योतिष विज्ञान के अनुसार यदि लड़के और लड़की के गुण-दोषों का मिलान ठीक नहीं बैठ रहा है तो इनका वैवाहिक जीवन सुखमय नहीं व्यतीत होगा।
विवाह से पूर्व कुंडली मिलान या गुण मिलान को अष्टकूट मिलान कहते हैं। इसमें वर एवं कन्या के जन्मकालीन ग्रहों तथा नक्षत्रों में परस्पर साम्यता, मित्रता तथा संबंध पर विचार किया जाता है। शास्त्रों में मेलापक के दो भेद बताए गए हैं। एक ग्रह मेलापक तथा दूसरा नक्षत्र मेलापक। इन दोनों के आधार पर वर एवं कन्या की शिक्षा, चरित्र, भाग्य, आयु तथा प्रजनन क्षमता का आकलन किया जाता है। कुंडली मिलान करने में सबसे पहला कार्य गुण मिलान का होता है। किसी भी कुंडली में आठ तरह के गुणों अर्थात अष्टकूट का मिलान किया जाता है। शादी में गुणों का मिलान बेहद जरुरी होता है। ये गुण है – वर्ण, वश्य, तारा, योनि, ग्रहमैत्री गण, भकूट और नाड़ी। इन सब के मिलान के पश्चात कुल 36 अंक होते है, विवाह के समय यदि लड़का-लड़की दोनों की कुंडली में 36 में से 18 या इससे ऊपर गुण मिल जाते हैं, तो यह माना जाता है कि विवाह सफल रहेगा, यदि 18 से कम गुण मिलते हैं तो विद्वान ज्योतिषियों द्वारा विवाह न करने का ही निर्देश दिया जाता है|

वर्ण के अंक 01
वर्ण को चार प्रकार के हैं, ब्राह्मण, क्षत्रिय, वैश्य और शूद्र, इनसे वर-वधु के अहंकार का मिलान किया जाता है। यदि दोनों के वर्ण में समानता हो तो वर-बधु की कार्यक्षमता अच्छी होती है, जिससे विवाह के बाद दोनों का विकास होता है।
वश्य के अंक 02
वर-वधु की कुण्डली में वश्य के आधार पर यह देखा जाता है कि शादी बाद कौन किस पर हावी रहेगा।दोनों में से किसकी नियंत्रण क्षमता अधिक है| इसे पाँच प्रकार से देखा जाता है- चतुष्पाद (चार पैरों से चलने वाला), मानव, वनचर, जलचर और कीट।
तारा के अंक-03
लड़के-लड़की की कुण्डली में तारा के अंक अच्छे होने से विवाह के पश्चात दोनों के भाग्य में वृद्धि होगी। यदि तारा के अंक शून्य होगें तो शादी के बाद दोनों का भाग्य साथ न देगा जिस वजह से प्रगति में बाधायें आयेंगी।
योनि के अंक 04
वर-वधु की कुण्डली में योनि के अंक बेहतर मिलने पर दोनों के बीच निकटता, शारीरिक संबंधों में अनुकूलता आदि के बारे में देखा जाता है। यदि योनि के अंक शून्य हैं तो विवाह के बाद दोनों का मानसिक स्तर न मिलने पर आये दिन तनाव होता रहता है।
ग्रहमैत्री के अंक 05
लड़के-लड़की की कुण्डली में ग्रहमैत्री के अंक अच्छे मिलने से दोनों में सामंजस्य बेहतर रहता है एंव पारिवारिक उन्नति होती है। ग्रहमैत्री के अंक शून्य होने पर पारिवारिक प्रगति बाधित होती है एंव विरोधाभास बना रहता है।
गण के अंक 06
इसमें वर और वधु के स्वभाव और व्यवहार को मिलाया जाता है। गण तीन तरह के होते हैं- देव, मानव, राक्षस। पुरूष-स्त्री की कुण्डली में जब गण के अंक बेहतर होते है तो दोनों का स्वभाव आपस में मेल खाता है, और गण के अंक शून्य होने पर दोनों का स्वभाव आपस में नहीं मिलता|
भकूट के अंक 07
भकूट में वर-वधु की भावनाओं का मेल देखा जाता है। यह परिवार, आर्थिक समृद्धि और दम्पत्ति के बीच की ख़ुशी को निर्धारित करता है। कुण्डली में भकूट के अंक अच्छे मिलने पर आपस में अच्छा प्रेम बना रहता है और भकूट के अंक शून्य होने पर वर-वधू के बिच प्रेम का आभाव रहता है,
नाड़ी के अंक 08
विवाह में नाड़ी दोष का विचार बहुत ही महत्वपूर्ण है नाड़ी दोष के कारण व्यभिचार का दोष पैदा होने की सभांवना रहती है परस्पर लड़ाई -झगड़े होकर तलाक की नौबत आ जाती है। विवाह के पश्चात् संतान सुख कम मिलता है, गर्भपात की समस्या ज्यादा बनती है इसीलिए विवाह से पूर्व कुंडली मिलान अवश्य करना चाहिए|

#acharyaraj #Ganpatijyotish #Astrologer #Jeewanmantra
हमारे विशेषज्ञों से बात करें –
अच्छे परिणाम, सही संचार और दशकों का अभ्यास अब आपको सिर्फ एक ही मंच पर यहाँ मिलता है l आप कॉल करके हमारे विशेषज्ञों से अपने लिए अच्छे उपाय प्राप्त कर सकते है। आपकी हर समस्या का समाधान और उसके उपाय आप अब आसानी से प्राप्त कर सकते है। आपका जन्म समय कैसे तय करता है , आपका भविष्य यदि आप अपने जीवन में किसी भी प्रकार की समस्याओ का सामना कर रहे है, तो आप यहाँ साझा कर सकते है :-http://bit.ly/2EYcxie
Free Prediction Call Now: 9560973854. or whatsapp: 9958104566
linkedin.com/in/ganpati-jyotish-560b26188/
Facebook.com/Ganpatijyotishofficial/
twitter.com/SansthanJyotish
instagram.com/06ganpatijyotishsansthan/
https://g.page/Ganpatijyotishofficial?gm..

Spread the love
No Comments

Post A Comment